श्याम प्रसाद मुखर्जी की जीवनी - Biography of Shyam Prasad Mukherjee in hindi jivani

news

Posted  1,696 Views updated 11 months ago

नाम : श्याम प्रसाद मुखर्जी 
जन्म दि: 6 जुलाई 1901
ठिकाण : कोलकत्ता
पिता : आशुतोष मुखर्जी
व्यावसाय : अकदमीशियन, बैरिस्टर, राजनितिज्ञ, कार्यकर्ता

प्रारंभिक जीवन :

        श्याम प्रसाद मुखर्जी का जन्म 6 जुलाई 1901 मे हुवा था | उनका जन्म कोलकता मे बंगली हिंदू परिवार मे हुवा था | उनके पिता का नाम आशुतोष मुखजी था उनके पिता कलकत्ता उच्चा न्यायालय के न्यायाधिश थे जो कि कलक्त्ता विश्वाविदयालय के कुलपति भी थे | उनकी माता का नाम जोगमाया देवी मुखर्जी था |

        मुखर्जी ने 1906 मे भवानीपूर के मित्रा इंस्टीटयूशन मे दाखला ले लिया | और 1914 मे उन्होंने आपनी एसएससी मैट्रिक परिक्षा पास कि | और प्रेसीडेंसी कॉलेज मे भर्ती हुए | वे 1916 मे इंटर आर्टस परिक्षा मे 17 वे स्थान पर रहे थे | 1921 मे प्रथम श्रेणी मे प्रथम स्थान हासिल करते हुए अंग्रेजी मे स्त्रातक क‍ि उपाधि प्रापता कि थी |

        उनकी शादी 16 अप्रेल् 1922 को सुधा देवी से हुई थी | श्याम प्रसाद मुखर्जी ने बंगाली मे एमए भी कंप्लेट किया | और 1923 मे सीनेट के साथी भी बने थे | उन्होंने 1924 मे बीएलपूरा किया | उसी वर्ष 1924 मे कलकत्ता उच्चा न्यायालय मे एक वकिल के रुप मे दाखिला लिया था | इसके बाद 1926 मे लिंकन इन मे अध्यायन करने के लिए वे इंग्लैंड चले गए थे | और उसी वर्ष उन्हे आग्रेंजी बार मे बुलाया गया था |

        श्याम प्रसाद मुखजी क‍ि शादी 11 साल क थे तब सुधा देवी से हुई थी | और उनके पाच बच्चें थे | उनके एक बेटे कि चार महिने बा था तब डिप्थरिया से मौत हो गई थी | 1933 या 1934 मे उनकी पत्नी सुधा देवी क‍ि डबल निमोनिया से मौत हो गई थी | और उनके दोन बेटे, और दो बेटिया थी बेटे का नाम अनतोष और देबतोष था | और बेटी का नाम सबीता और आरती था | श्याम प्रसाद बौदध महाबोधि सोसाइटी से भी जुडे हुए थे |

कार्य :

        श्याम प्रसाद ने आपने राजनेतिक जीवन कि सुरुवात 1929 मे कि थी | जब उनहेांने कलकत्ता विश्वाविदयालय का प्रतिनिधित्वा करने वाले भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार के रुप मे बंगाल विधान परिषद मे प्रवेश किया | उनहोंने एक स्वातंत्र उम्मीदवार के रुप मे चुनाव लढा गया था |

        और उसी साल उन्हें चुना गया था | जिसने कृषक प्रजा पाटी ऑल् इंडिया मुस्लिम लग गठबंधन को सत्ता मे लाया गया | 1941:42 मे उन्होंने एके फजलुन हक कि प्रगतिशील गठबंधन सरकार के तहत बंगाल प्रांत के वित्त मंत्री के रुप मे कार्य किया था | जो कांग्रेस के इस्तीफे के बाद 12 दिसंबर 1941 को इनाई गई थी |

        प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु जी ने 15 अगस्ता 1947 को श्याम प्रसाद मुखर्जी को उघोग और आपुर्तिमंत्री के रुप मे अंतरिम केंद्र सरकार मे शामिल किया गया था | मुखर्जी ने सुझााव दिया कि संगठन अपनी राजनितीक गतिविधयों को निलंबीत कर देगा | मुखर्जी ने अल्पसंख्याक आयोगो कि स्थापना कि थी |

 

     

 

 


Your reaction?

0
LOL
0
LOVED
0
PURE
0
AW
0
FUNNY
0
BAD!
0
EEW
0
OMG!
0
ANGRY
0 Comments

  • श्याम प्रसाद मुखर्जी की जीवनी - Biography of Shyam Prasad Mukherjee in hindi jivani
  • vihanapp@gmail.com